Hindi Shayari on Ishq, Tere ishq ke rahoon me

Hindi Shayari on Ishq

Ishq Ibadat

Hindi Shayari on Ishq

Ishq e ibadat, ishq e khuda,

Ishq e mazhab, ishq e dua,

Par ae yaar jab se tune daga diya

Ishq he bana mere lie bad dua


इश्क़ ए इबादत, इश्क़ ए खुदा,

इश्क़ ए मज़हब, इश्क़ ए दुआ,

पर ऐ यार जब से तूने दगा दिया

इश्क़ ही बना मेरे लिए बद दुआ


Tere ishq ke rahoon me

Hindi Shayari on Ishq
shayari on ishq

Tere ishq ke rahoon me hum chal pade hain,

Mana ke is raah me mushkil bade hain

Par bin kuch soche hum is raah me chal pade hain

Mana ke is raah me humare apne he musibat bane khade hain

Par wo aashiq he kya jo dunia se dare hain.


तेरे इश्क़ के राहों में हम चल पड़े है,

माना की इस राह में मुश्किल बड़े है

पर बिन कुछ सोचे हम इस राह में चल पड़े है

माना की इस राह में हमारे अपने ही मुसीबत बने खड़े है

पर वो आशिक़ ही क्या जो दुनिया से डरे है.


Dunia se begani

Hindi Shayari on Ishq
hindi sad shayari image

Tere ishq me ae yaar mein dunia se begani ho gai,

Bazirao ke Mastaani or Krishna ke Radha se deewani ho gai.

Bin kahe ek unkahi kahaani ho gai,

Jalte hue shamma ke parwani ho gai,

Tere ishq me ae yaar mein apno se Anjani ho gai.


तेरे इश्क़ में ऐ यार मैं दुनिया से बेगानी हो गई,

बाजिराओ कि मस्तानी और कृष्णा कि राधा से दीवानी हो गई,

बिन कहे एक अनकही कहानी हो गई,

जलते हुए शमा कि पारवानी हो गई,

तेरे इश्क़ में ऐ यार मैं अपनों से अंजनी हो गई


Tere Saubat ka hua ye asar hi

Hindi Shayari on Ishq
hindi sad shayari status

Tere Saubat ka hua ye asar hai,

Tere intezaar me hum ae rehguzar hai,

Tujhe dhundta ye dil har pahar hai.

Tere Saubat ka ye asar hai,

Par na jane ae mere yaar tu ab tak kidhar hai.


तेरे सौबत का हुआ ये असर है,

तेरे इंतज़ार में हम ऐ रहगुज़र है,

 तूझे ढूंढ़ता ये दिल हर पहर है,

तेरे सौबत का ये असर है,

पर न जाने ऐ मेरे यार तू अब तक किधर है


Ruswa

Hindi Shayari on Ishq
ishq shayari with image

Ae mere humsafar ae mere rehguzar,

Agar kisi se pyar kar to fir dunia ke parwah na kar.

Hai himmat agar to apne pyar ke khatir iss dunia se tu lad.

Par dunia ke khatir apne pyar se tu ruswa na kar.

Hai himmat agar to dunia se na tu dar,

Par fir bhi Tujhe lagraha hai dar ,

To ja Chullu bhar pani me dub mar.


ऐ मेरे हमसफ़र ऐ मेरे रहगुज़र,

अगर किसी से प्यार कर तो फिर दुनिया की परवाह ना कर,

है हिम्मत अगर तो अपने प्यार की खातिर इस दुनिया से तू लड़,

पर दुनिआ के खातिर अपने प्यार से तू रुस्वा न कर,

है हिम्मत अगर तो दुनिया से न तू दर,

पर फिर भी तुझे लगरहा है डर,

 तो जा चुल्लू भर पानी में दुब मर


– by Sony Kumari Shaw

You may also like...

1 Response

  1. Suman Sharma says:

    It triggers my emotion 😢

Leave a Reply

Your email address will not be published.