Shayari for Independence day | Aazad Kar Gaye Wo hume

Shayari for independence day

आखें नाम हुए मगर
आजाद कर गए वो हमे
ना जाने कैसा सौदा किया जिंदगी का
खुद भी आजाद हो गए ।


Ankhe nam hue magar
aazad kar gaye wo hame
Na jaane kesa souda kiya zindagi ka
khud bhi aazad ho gye

Shayari for independence day

भूले नहीं हैं वो बलिदान
जब बचाई हमारी आन
कर कुर्बान अपने आप को
अमर कर गए इस जहां को।


Bhule nhi hai wo balidan
jab bachai hamari aan
kar kurban apne aap ko
amar kar gaye iss jahan ko

independence day shayari

देश से ही देशवाशी हैं
देशवाशियो से ये देश है
हमारी संस्कृति मानो अलग अलग
मगर कहलाएंगे हम एक हैं।


Desh se hi desh waasi hai
deshwasiyon se ye desh
hamari sanskriti mano alag alag
magar kehlate hum ek hai

75 independence day shayari

तिरंगा जब यूं लहराता है
वो यादें लेकर आता है
सुनो सभी गौर से वो दस्तान
जब शहीदों ने रखा अपना मान ।


Tiranga jab yun lahrata hai
wo yaadein lekar aata hai
suno sabhi gaur se wo dastan
jab saheedon ne rakha apna maan

75th independence day Shayari

ना ही उन अंधेरी रातों को पता है
ना ही इन पहाड़ों को
हिन्दुस्तान को अमर रखा
जग जग के जब रातों को ।


Na hi unn andheri raaton ko pata hai
Na hi inn pahado ko
Hindustan ko amar rakha
Jag Jag ke jab raaton ko

Azadi Shayari

इतिहास गवाह है
आज भी धरती याद करती है
जब उन दिलों की दस्तान को
तो मजबूर करदेति है
रोने पर उस आसमान को।


Itihas gawah hai
aaj bhi dharti yaad karti hai
jab unn dilon ki dastan ko
toh majbur kar deti hai
rone par uss aasman ko

shayari independence day

न हवाओं से सुनी
ना ही परिंदो से
जो दास्तां हमें शहीदों ने सुनाई
स्वतंत्रत भारत को उन
महार्थियो की याद आई ।


Na hawaon se suni
Na hi parindon se
Jo dastan hame shaheedon ne suni
swatantra bharat ko unn
maharathiyon ki yaad aai

15 august shayari

हैं सब अलग इस देश में
फिर भी ये अलग नहीं
हमारी संस्कृति और देशप्रेम ने
जोड़े रखा हमे साथ यहीं।


Hai sab aalag iss mein
Fr bhi ye alag nahi
hamari sanskriti aur desh prem mein
Jode rakha hame saath yahi

Shayari on Independence Day

-by Vaishali Dosad

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.